अहिरौली दान के कचहरी टोला का अस्तित्व मिटाने को आतुर गंडक

Tamkuhi

ध्रुव शर्मा कुशीनगर। अहिरौली दान के कचहरी टोला का अस्तित्व मिटाने को आतुर गंडक

कुशीनगर जिले में बड़ी गंडक नदी तबाही मचाने को आतुर है। तमकुहीराज तहसील क्षेत्र के लक्ष्मीपुर के पास नदी अमवा खास मुख्य बांध को काट रही है वहीं इसी तहसील क्षेत्र के एपी बांध के समीप स्थित अहिरौली दान के कचहरी टोला का अस्तित्व समाप्त करने पर तुली हुई है।

तमकुहीराज तहसील क्षेत्र के एपी बांध पर अहिरौलीदान के खैरखुटा में बने 13.950 नोज कट जाने के कारण नदी की धारा सीधे कचहरी टोला में बने नोज 14.400 पर टकरा रही है। इससे कचहरी टोला में बचे हुए कुछ घरों को भी नदी अपने आगोश में लेने को आतुर है। करीब 250 घरों को नदी वर्ष 2011 से ही निशाने पर लेती है, जिससे घर नदी में विलीन हो जाते हैं। वर्ष 2018 तक इस टोले पर सिर्फ 12 घर ही बच गए थे। इसमें भी पिछले महीने तीन घर नदी में विलीन हो गए। बचे घरों में शिवजी सिंह के घर का आधा हिस्से को नदी ने शनिवार को अपनी धारा में समाहित कर लिया। वहीं अहिरौली दान ढाले पर लगभग 70 दुकानें हैं। अवैध रुप से ए पी ततबंध पर कब्जा किए हुए हैं। अहिरौली दान व आस पास के ग्रामीणों का कहना है कि अगर समय रहते ए पी ततबंध से अवैध अतिक्रमण को हटाकर ए पी ततबंध का मरम्मत नहीं किया गया तो नदी के विकराल रूप से ए पी बांध नहीं बच सकता है।