कबीर की मजार पर योगी ने नहीं पहनी टोपी, मोदी ने चढ़ाई चादर

राष्ट्रीय खबर
Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

कबीर की मजार पर योगी ने नहीं पहनी टोपी, मोदी ने चढ़ाई चादर

28 जून 2018

 

  • कबीर की मजार पर योगी ने नहीं पहनी टोपी, मोदी ने चढ़ाई चादर
    1 / 10

    संत कबीर दास के 620वें प्राकट्य दिवस के अवसर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मगहर पहुंचे. कबीर की समाधि स्थल पर पीएम मोदी ने मजार पर चादर चढ़ाई और माथा टेका.

  • कबीर की मजार पर योगी ने नहीं पहनी टोपी, मोदी ने चढ़ाई चादर
    2 / 10

    वहीं, पीएम के दौरे से एक दिन पहले बुधवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी तैयारियों का जायजा लेने के लिए मगहर पहुंचे थे.

  • कबीर की मजार पर योगी ने नहीं पहनी टोपी, मोदी ने चढ़ाई चादर
    3 / 10

    योगी कबीर की मजार पर गए लेकिन वहां संरक्षक ने उन्हें टोपी पहनाने की कोशिश की, तो योगी ने उनका हाथ पकड़ लिया और इशारे में मना कर दिया.

  • ads
  • कबीर की मजार पर योगी ने नहीं पहनी टोपी, मोदी ने चढ़ाई चादर
    4 / 10

    बाद में उन्हें टोपी हाथ में लेने को कहा तो उन्होंने उससे भी इनकार कर दिया. फिर योगी इंतजामों के बारे में पूछने लगे.

  • कबीर की मजार पर योगी ने नहीं पहनी टोपी, मोदी ने चढ़ाई चादर
    5 / 10

    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने संत कबीर की नगरी मगहर में लोगों को संबोधित भी किया.

  • कबीर की मजार पर योगी ने नहीं पहनी टोपी, मोदी ने चढ़ाई चादर
    6 / 10

    पीएम मोदी ने कबीर के संदेश को याद करते हुए विपक्ष पर निशाना साधा. उन्होंने कहा, “संत कबीर जाति में विश्वास नहीं करते थे, वह मानते थे कि हर कोई बराबर है. हम कबीर के बुद्धिपरक संदेश को जनता तक ले जाएंगे और न्यू इंडिया को आकार देंगे.”

  • कबीर की मजार पर योगी ने नहीं पहनी टोपी, मोदी ने चढ़ाई चादर
    7 / 10

    प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि कुछ दलों को शांति और विकास नहीं, कलह और अशांति चाहिए. उनको लगता है जितना असंतोष और अशांति का वातावरण बनाएंगे उतना राजनीतिक लाभ होगा. सच्चाई ये है ऐसे लोग जमीन से कट चुके हैं, इन्हें अंदाजा नहीं कि संत कबीर, महात्मा गांधी, बाबा साहेब को मानने वाले हमारे देश का स्वभाव क्या है.

  • कबीर की मजार पर योगी ने नहीं पहनी टोपी, मोदी ने चढ़ाई चादर
    8 / 10

    पीएम ने महागठबंधन पर भी निशाना साधा. उन्होंने कहा कि सत्ता का लालच ऐसा है कि आपातकाल लगाने वाले और आपातकाल का विरोध करने वाले आज कंधे से कंधा मिलाकर कुर्सी झपटने में लगे हैं. ये सिर्फ अपने परिवार के हितों के लिए चिंतित हैं.

  • कबीर की मजार पर योगी ने नहीं पहनी टोपी, मोदी ने चढ़ाई चादर
    9 / 10

    संतकबीर नगर जिले में छोटा सा कस्बा मगहर वाराणसी से 200 किमी दूर है. मगहर के बारे में कहा जाता था कि यहां मरने वाला व्यक्ति नरक में जाता है. कबीर ने इसी अंधविश्वास को तोड़ने के लिए अंतिम समय मगहर में ही बिताया था.

  • कबीर की मजार पर योगी ने नहीं पहनी टोपी, मोदी ने चढ़ाई चादर
    10 / 10

    1518 में इसी जगह संत कबीर दास की मृत्यु हुई.

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.