केरल में 100 साल में सबसे बड़ी बाढ़, 324 की मौत, हालात का जायजा लेने पहुंचे PM

राष्ट्रीय खबर
Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

केरल में बाढ़ ने पिछले 100 साल का रिकॉर्ड तोड़ दिया है. सूबे के कई हिस्से जलमग्न हो गए हैं और 324 लोगों की जान चली गई है. इसके अलावा काफी संख्या में लोग बाढ़ में फंसे हुए हैं. केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह के बाद अब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी खुद हवाई सर्वेक्षण करने के लिए केरल पहुंच चुके हैं.
केरल में मूसलाधार बारिश और बाढ़ ने भयंकर तबाही मचा रखी है. सूबे के हालात बेहद बदतर हो गए हैं. इस बार की बारिश और बाढ़ ने 100 साल का रिकॉर्ड तोड़ दिया है. सूबे के कई हिस्से पूरी तरह से जलमग्न हो गए हैं. पानी को बाहर निकालने के लिए 80 डैम खोल दिए गए हैं. अब तक 324 लोगों की जान जा चुकी है और दो लाख 23 हजार 139 लोग बेघर हो गए हैं. इन लोगों ने 1500 से ज्यादा राहत कैंपों में शरण ले रखी है. केरल सीएमओ की ओर से इसकी जानकारी दी गई.

वहीं, पीएम मोदी बाढ़ प्रभावित इलाकों का हवाई सर्वेक्षण करने के लिए केरल पहुंच चुके हैं. वो शनिवार सुबह हवाई सर्वेक्षण करेंगे. इससे पहले मूसलाधार बारिश और बाढ़ के चलते कोच्चि एयरपोर्ट तक में पानी भर गया है, जिसके चलते इसको शनिवार तक के लिए बंद करना पड़ा. विमानों का संचालन पूरी तरह से रोक दिया गया है. ट्रेन और सड़क परिवहन सेवाएं ठप हो गई हैं. सड़कों और इमारतों में पानी भर गया है. सड़कों पर पानी इतना ज्यादा भर गया है कि लोगों को बाहर निकालने के लिए नौका का इस्तेमाल किया जा रहा है.

केरल सरकार ने बाढ़ पीड़ितों की मदद के लिए लोगों से डोनेशन देने की अपील की है. donation.cmdrf.kerala.gov.in के जरिए कोई भी बाढ़ पीड़ितों की मदद कर सकता है. शुक्रवार को दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह और आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू ने केरल को 10-10 करोड़ रुपये की मदद देने का ऐलान किया है. तेलंगाना के सीएम के चंद्रशेखर ने भी 25 करोड़ रुपयों की मदद का ऐलान किया है.

केंद्रीय गृह राज्यमंत्री राजनाथ सिंह केरल के कुछ जिलों का हवाई सर्वे भी कर चुके हैं. हवाई सर्वे के बाद राजनाथ ने कहा था कि केरल में स्थिति वाकई बेहद खराब हो गई. इसके बाद उन्होंने केरल के लिए पैकेज का भी ऐलान किया. एनडीआरएफ और भारतीय वायुसेना भी राहत और बचाव कार्य में जुटे हुए हैं.

केरल में बाढ़ में फंसे लोगों को निकालने के लिए भारतीय वायुसेना ऑपरेशन ‘करुणा’ चला रहा है. 5 Mi-17V5 और तीन अन्य हेलिकॉप्टर के जरिए पथानामथिट्टा, एर्नाकुलम और त्रिशूर जिले में फंसे लोगों को बचाया गया है. इसके अलावा रक्षा मंत्रालय ने केरल को राहत और बचाव कार्य के लिए 1300 लाइफ जैकेट्स, 571 लाइफबॉय, एक हजार रेनकोट, 1300 गमबूट, 25 मोटराइज्ड बोट, नौ नॉन मोटराइज्ड बोट, 1500 फूड पैकेट और 1200 रेडी-टू-ईट मील उपलब्ध कराया है.

टेलीकॉम कंपनियां 7 दिन तक देंगी मुफ्त सेवाएं

देश की प्रमुख टेलीकॉम कंपनियों ने बाढ़ की चपेट में आए केरल में सात दिनों तक फ्री कॉलिंग और डेटा की सुविधा देने की घोषणा की है. साथ ही बिल भुगतान और अन्य सेवाओं को लेकर भी इतने ही दिनों की राहत दी है. सरकारी टेलीकॉम कंपनी BSNL और रिलायंस जियो ने केरल के अपने ग्राहकों को फ्री कॉलिंग की सुविधा दी है. भारती एयरटेल, वोडाफोन और आइडिया सेल्यूलर ने अपने प्रीपेड ग्राहकों को सीमित संख्या में मुफ्त कॉलिंग की सुविधा दी है.

केरल पहुंचे पीएम मोदी, कल करेंगे हवाई सर्वेक्षण

केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों का हवाई सर्वेक्षण करने के लिए केरल पहुंच चुके हैं. वो शनिवार सुबह साढ़े छह बजे एयरपोर्ट जाएंगे और फिर आठ बजे बाढ़ प्रभावित इलाकों का हवाई सर्वेक्षण करने के लिए निकलेंगे.

इसके बाद वो सुबह 09:25 बजे वापस लौटेंगे और फिर सूबे के मुख्यमंत्री और अधिकारियों से बातचीत करेंगे. इससे पहले शुक्रवार को पीएम मोदी ने ट्वीट कर कहा कि वो केरल में हालात का जायजा लेने के लिए रवाना हो रहे हैं.

इससे पहले गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने पर्यटन मंत्री केजी अल्फोंस के साथ बाढ़ प्रभावित इलाकों का हवाई सर्वेक्षण किया किया था.

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.