शादीशुदा महिला से संबन्ध बनाना अब अपराध नहीं

राष्ट्रीय खबर
Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.


जयपुर। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि अभी हाल ही में विवोहत्तर संबंध को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने गुरुवार को ऐतिहासिक फैसला सुनाया है। सुप्रीम कोर्ट ने अब व्य भिचार को अपराध की श्रेणी से बाहर कर दिया है। बता दें कि अभी तक शादीसुदा महिला से अभिव्यक्त या मौन सहमति के बिना व्यभिचार करना दंडनीय अपराध था। इस अपराध में दोषी पाया गया व्यक्ति को कारावास या अर्थ दंड या दोनों दंड से दण्डित किया जाता था। लेकिन अब उच्चतम न्यायालय ने इसको अपराध की श्रेणी से बाहर कर दिया है।

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि महिला और पुरुष के बीच गैर व्यक्ति से संबंध बनाने से जुड़ी IPC की धारा 497 को सुप्रीम कोर्ट ने संविधान विरोधी बताया है।

उच्चतम न्यायालय ने 27 सितंबर को ऐतिहासिक फैसला सुनाते हुए एलान किया है कि सुप्रीम कोर्ट ने अब व्य भिचार को अपराध की श्रेणी से बाहर कर दिया है। बता दें कि दीपक मिश्रा की अगुवाई वाली इस बेंच ने कहा कि महिला के साथ गलत व्यवहार नहीं किया जा सकता है।


उच्चतम न्यायालय के इस आदेश के बाद अब एक शादी शुदा औरत किसी गैर मर्द के साथ संबंध बना सकती है। और उस इसे अपराध की श्रेणी में नहीं माना जायेगा। साथ ही एक पुरुष भी शादीशुदा महिला के साथ संबंध बना सकता है।

ये कंटेंट Tamkuhi News के विचार नहीं दर्शाता है

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.